कावाइयों की पहाड़ी पर अवस्थित सेंट जेम्‍स हरमिटेज का नवीकरण किया जा रहा है, जहाँ क्रिश्चियन डॉक्ट्रिन फादर्स के संस्‍थापक,चेसार दे बुस 1582 ई. में पुरोहिताभिषेक के बाद “पल्‍ली पुरोहितों की धर्मशिक्षा” का गहरा अध्‍ययन करने के लिए एकान्‍तवासी बन गये थे। निजी दान के तहत इसकी छत, पत्‍थर का फर्शयुक्‍त पोर्च और बागीचे को फिर से व्यवस्थित किया जाएगा। जनवरी की शुरुआत से ही कार्य प्रारम्‍भ हो चुका है।
-ल्यूक पारपेलिक्स ने कावाइयों के “ला प्रोवेंस” अखबार में लिखा है:«निर्माण कार्य की तुलना निश्चित रूप से सैन वेरानो के कैथेड्रल में चल रहे कार्य से नहीं की जा सकती है। इसके आकार और व्यय दूसरे क्रम में हैं, परन्‍तु इसके प्रतीकात्‍मक महत्व बिलकुल समान हैं। बेशक, सेंट जेम्‍स के प्रार्थनालय को एक ऐतिहासिक स्मारक की इमारत के रूप में श्रेणीबद्ध किया गया है, अत: यह बहाल करने योग्य है। 2021 में, पोप फ्रांसिस द्वारा धन्य चेसार दे बुस के आगामी संतघोषण के निर्णय से, निश्चित रूप से समय को और भी तेज कर दिया है »।
छत और पोर्टिको के लिए काम की लागत लगभग 90 हजार यूरो है, जो कि सरकार द्वारा सांस्कृतिक मामलों के क्षेत्रीय निदेशालय, दक्षिणी क्षेत्र और विभागीय परिषद द्वारा बड़े पैमाने पर अनुदानित है। जबकि नगरपालिका के जिम्‍मे करीब 21 हजार यूरो आएँगे।
कार्य का दूसरा हिस्‍सा प्रार्थनालय परिसर का उद्यान है। “ला प्रोवेंस” लिखता है: «एक पैदल पथ, एलईडी प्रकाश की व्यवस्था और बेंचों का निर्माण किया जाएगा तथा अतिरिक्‍त पेड़-पौधे लगाए जाएंगे। यह विचार स्वाभाविक रूप से शानदार परिदृश्य के अनुसार एक शांति-स्‍थल बनाना है। स्वर्ग का एक छोटा सा कोना! »
यह परियोजना पूरी तरह से कुछ कंपनियों द्वारा वहन की जाएगी जो मुफ्त काम करना सुनिश्चित करेंगी और जिन्‍होंने एक नैतिक चार्टर पर हस्ताक्षर किए हैं जिसे धारा 6 में इस प्रकार उल्‍लेखित किया गया है:“यह शहर फ्रांसीसी या विदेशी संगठनों से किसी भी प्रकार के धन या चंदा यथा राजनीतिक, ट्रेड यूनियन, धार्मिक और किसी भी प्रकार के फंड को प्राप्त करने पर प्रतिबंध लगाता है, जो कर आश्रय अथवा कर पनाह देने वाले स्रोतों से आते हों»।