डॉक्ट्रिन फ्रेटरनिटी ऑफ़ द वर्ड

क्रिश्चियन डॉक्ट्रिन फादर्स धर्मसंघ के तहत ईशवचन का डॉक्ट्रिन भ्रातृसंघ लोकधर्मियों की सन्तता का एक मूवमेंट है जो फ़ादर चेसार के आदर्श पर, ईशवचन पर प्रार्थना करने, इसका मनन-चिंतन करने, इसे जीने और उदाहरण के साथ ईश्वर की ओर अभिमुख होने, परन्तु विशेष कर छोटों और गरीबों के प्रति, अपने मार्ग को दृढ़ करने के लिए बुलाये गये हैं।
फादर चेसार की प्रेरिताई तथा कलीसिया में पवित्रता और मिशन का उनका अनुभव हमें सरलता और मौन में, खमीर-दीपक-नमक बनने और जीने के लिये प्रेरित करते हैं। इस उद्देश्यय के लिए हम प्रभु द्वारा हर जगह जीने के लिए बुलाये गये हैं जहाँ परिवार, स्थानीय कलीसिया और समाज है।
हम अन्तोनिएत्ता रेवेईयाद और लुईस गुईयो को फ्रेटरनिटी (भ्रातृसंघ) के आदर्श और प्रेरणा के रूप में लेते हैं जिन्होंने फ़ादर चेसार का मन-परिवर्तन पर बहुत साथ दिया। उनकी ही तरह, हमारी जीवन शैली भी, विश्वसनीय उदहारण और पिता के प्रेम की कोमलता के विनम्र साधन बनने के लिए, दया के आनंद से दृढ़पूर्वक सुस्पष्ट हो।
फ्रैटरनिटी के सदस्य प्रतिदिन ईश्वर के वचन पर प्रार्थना करने की कोशिश करते हैं, महीना में एक बार आयोजित प्रार्थना सभा में भ्रातृसंघ का जीवन जीते हैं, प्रशिक्षण और आध्यात्मिक निर्देशन के लिए ली गई पहल को स्वीकारते हैं। इस प्रकार वेफादर चेसार दे बुस द्वारा स्थापित धर्मसंघीय समुदाय के जीवन और मिशन का अंग होना महसूस करते हैं।

हमारा इतिहास

“… यह उचित होगा कि, ईश्वर को धन्यवाद देने के लिए, जिसने कलीसिया को इतने सारे उपहारों से अलंकृत किया है,हर करिश्माई परिवार अपनी उत्पयत्ति और ऐतिहासिक विकास को याद करेक्योंाकि अपनी पहचान बनाए रखने, परिवार की एकता को मजबूत करने और सदस्यों के साथ जुड़े रहने की भावना को आभास करने के लिए इतिहास बताना जरूरी है”।
पोप फ्रांसिस, धर्मसंघियों को पत्र, 21 नवम्बर 2014

पोप फ्रांसिस के इन शब्दों के आलोक में, मेरे भाई और बहन, आप जो इसे पढ़ रहे हैं और ईश्वर में हमारा इतिहास जानना चाह रहे हैं, मैं आपकी ओर अभिमुख होता हूँ और आपसे सरलता और मौन से इसे ग्रहण करने का आग्रह करता हूँ, क्योंकि हर मानव इतिहास में हम विश्वासियों के लिए, वह प्रभु ही हैं जो कार्य करते हैं, वह पवित्र आत्मा ही हैं जो हमें प्रेरित और नेतृत्व करते हैं, और मार्गदर्शन करते हैं।

भ्रातृसंघ के पौधे की जड़ नि:संदेह फ़ादर चेसार के मानवीय जीवन की पवित्रता और मिशन की गहरी जमीन में है। फादर चेसार ने मन-परिवर्तन और ईश-शास्त्र का अध्ययन कर पुरोहित बनने के बाद सेंट जेम्स आश्रम में कुछ समय के लिए एकांतवासी जीवन जीने के लिए चले जाते हैं। जब वे कावाइयों की पहाड़ी से नीचे उतरते हैं, गावों और ग्रामीण इलाकों में जाकर छोटों और गरीबों के साथ ईश्वर के वचन की रोटी तोड़ते हैं। शीघ्र ही, उनके उदाहरण और धर्मसिद्धांत बताने की पद्धति से आकर्षित होकर, कुछ लड़कियाँ और युवा उनके साथ “प्रार्थना की गतिविधियाँ (ऑरेटरी)” प्रारम्भ करते हैं। इस तरह ईशवचन, प्रार्थना और लोगों से बाहर मिलने जाने के निर्देशों का अनुपालन कर वे स्वयं” जीवंत धर्मशिक्षा” बन जाते हैं।

सदियों के दौरान धर्मसंघ के लंबे और कठिनमय डगर में अनेक लोकधर्मियों ने फ़ादर चेसार की प्रेरिताई से जन्मे क्रिश्चियन डॉक्ट्रिन फादर्स धर्मसंघ के परिवार की आध्यात्मिकता और मिशन को साझा किया है। फिर हम डॉक्ट्रिनरी महिलाओं को कैसे भूल सकते हैं …? धर्मशिक्षकों द्वारा कलीसिया के प्रेरितिक कार्य का नया अनुभव करने का सुन्दवर दौर था, जब ट्यूरिन के जीसस नाजरीन पल्ली के समुदाय में प्रभु ने फादर बतिस्ता प्रेविताली के नेतृत्व में जिस बीज को रोपने की व्यवस्था की, वही बाद में ‘ईशवचन का डॉक्ट्रिन भ्रातृसंघ’ बन गया। वह 1982 ईस्वीश था।

“यह बुलाहट (फ्रेटरनिटी) उन लोगों के लिए है जो यह महसूस करते हैं कि सादगी और मौन में ईशवचन को ग्रहण कर सकते हैं तथा इसे सरंक्षित रख सकते हैं, ठीक उसी प्रकार जैसे कि कलीसियाई समुदाय में वचन को सुनने की प्रतिबद्धता के साथ ईश्वर की इच्छा के अनुसार फल ला सके…”
“… संत चेसार दे बुस की प्रेरिताई (करिज्मृ) के अनुसार दो या तीन व्यक्ति प्रत्येक पल्ली में, उसके हृदय में और पुरोहितों के समुदाय के हृदय में,ईशवचन से ओतप्रोत तथा ईशवचन के माध्यम से पवित्रता और मिशन के प्यासे बने रहें।”
(सन्दर्भ – डॉक्ट्रिन भ्रातृसंघ के ‘जीवन की नियमावली’)

मिट्टी में दबा बीज कई सालों तक छिपा रहा, जैसे कि प्रार्थना में, चढ़ावा में और फादर चेसार के मार्ग पर चल रहे पवित्रता और मिशन की इच्छाा रखने वाले कई सरल दिलों के साथ साझा करने की प्रतीक्षा में यह दफन रहा। 1995 ई. में डॉक्ट्रिन फादर्स द्वारा संचालित कावाइयों (फ्रांस) और ट्यूरिन के समुदायों में भ्रातृसंघकी शुरूआत हुई, तत्पश्चा त् 1996 में इव्रेया (ट्यूरिन) में, 1998 में रोम के प्रेरित संत अन्द्रेयस पल्ली में, ग्रोस्सेतो में कुछ बहनों के द्वारा, फिर 2013 में पोंतेकोरवो और रुज़िबा (बुरुन्डी) की कुछ बहनें भ्रातृसंघ में शामिल हो गईं।

मूल प्रेरणा के प्रति आज्ञाकारी बने रहने के लिये, भ्रातृसंघ नेबुलाहट की अपनी विशेषता को बरकरार रखा है, अर्थात् इसका हिस्साे बनने की बुलाहट महसूस करना प्रभु के ऊपर छोड़ देना है। अत: ‘आओ और देखो’का निमंत्रण मुझे अच्छा लगता है। इसलिए सादगी के साथ वैसे लोगों को मौखिक निमंत्रण दें जो पहले से ही वचन के माध्यम से और वचन के द्वारा ईश्वर में विश्वास का जीवन जीने की इच्छा प्रकट करते हों। भ्रातृसंघ कॉन्ग्रिगेशन द्वारा अपना एक करिश्माई परिवार के रूप में स्वीचकृत है और यह किसी एक डॉक्ट्रिन फादर द्वारा संचालित होता है जो मन से चलाना चाहता हो।

धर्मशिक्षा के माहौल से उत्पन्न भ्रातृसंघ अपने उन अनुयायियों द्वारा विस्तृत और समृद्ध हुआ है जो जीवन के विभिन्न परिस्थितियों के अनुसार इसकी पहचान, उद्देश्य, मिशन, साधन, इत्याकदि साझा करते हैं।

6 दिसंबर 2013 को कॉन्ग्रिगेशन का जनरल कौंसिल ने ईशवचन का डॉक्ट्रिन भ्रातृसंघ के जीवन की नियमावली को मान्यता प्रदान किया तथा इसे पवित्र आत्मा द्वारा प्रेरित संत चेसार दे बुस की प्रेरिताई के अनुरूप बताया।

डॉक्ट्रिन फ्रेटरनिटी ऑफ़ द वर्ड